सोमवार से 7 दिन के लिए सारे हरियाणा में पूर्ण लॉक डाउन घोषित

 


चंडीगढ़। हरियाणा सरकार ने आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 के तहत राज्य में सात दिन के लिए लॉकडाउन लगाने का निर्णय लिया है। गृह विभाग की तरफ से पूरे राज्य में सात दिन का लॉकडाुन लगान का फैसला लिया गया है। 3 मई सोमवार से लेकर सात दिन के लिए यह लॉकडाउन लगाया गया है।

3 मई दिन सोमवार से 7 दिन के लिए सारे हरियाणा में पूर्ण लॉक डाउन घोषित ।

आपदा प्रबंधन की राज्य कार्यकारी कमेटी के चेयरमैन हरियाणा के मुख्य सचिव श्री विजय वर्धन की ओर से निर्देश जारी किए गए हैं। निर्देशों में कहा गया है कि उक्त जिलों में सभी नागरिक घरों में ही रहें। किसी भी नागरिक को उक्त अवधि में पैदल या किसी वाहन से सडक़ पर या सार्वजनिक स्थान पर घूमने की अनुमति नहीं होगी।

उक्त निर्देशों में जिन व्यक्तियों और सेवाओं को छूट दी गई है उनमें ऐसे लोग जो लॉ एंड आर्डर या आपात सेवाओं में तैनात होंगे। इनमें म्यूनिसिपल सेवाएं, पुलिस, सेना/सीएपीएफ के वर्दीधारी कर्मचारी, स्वास्थ्य, बिजली, अग्नि शमन, मान्यता प्राप्त मीडियाकर्मी, कोविड-19 के अंतर्गत काम कर रहे सरकारी कर्मचारी शामिल हैं। इस अवधि के दौरान पहचान पत्र दिखाकर इन्हें आने-जाने में छूट मिल सकेगी।

इसके अलावा, किसी परीक्षा में शामिल होने के लिए या परीक्षा में ड्यूटी आदि पर जाने वाले लोगो को भी एडमिट कार्ड/ पहचान पत्र दिखाकर आने-जाने में छूट रहेगी। आवश्यक वस्तुओं के निर्माण में लगे लोगों पर भी आने-जाने में कोई रोक नहीं होगी।

राज्य के अंदर व बाहर आवश्क वस्तुओं को ले जा रहे वाहनों पर भी कोई रोक नहीं होगी। ऐसे कार्यों में लगे वाहनों को पास उपलब्ध करवाए जाएंगे। ये पास लोडिंग व अंलोडिंग के स्थानों की वैरीफिकेशन के बाद जारी होंगे।

नागरिक अस्पताल, पशु अस्पताल, सभी संबंधित मैडिकल सेवाएं, मैन्युफेक्चिरिंग और वितरण यूनिटस को भी छूट रहेगी यह सुविधा सरकारी और निजी क्षेत्र के लिए लागू होगी इनमें डिस्पेंसरी, कैमिस्ट, फार्मेसी (जन औषधि केंद्र सहित) और मेडिकल उपकरण की दुकानें, लेबोरेट्री , फार्मा रिसर्च लैब, क्लिनिक, नर्सिंग होम, एंबुलेंस आदि को काम करने की छूट रहेगी।

सभी स्वास्थ्यकर्मियों, नर्स, पैरामेडिकल स्टाफ, अस्पताल की सहायता के लिए आवश्यक सेवाओं के लिए आवागमन की अनुमति रहेगी। इसके अलावा, जिन अन्य आवश्यक वाणिज्यक एवं निजि सेवाओं को छूट रहेगी उनमें टेली कम्यूनिकेशन, इंटरनेट सेवाएं, प्रसारण एवं केबल सेवा, आईटी और आईटी संबंधी सेवाओं के अलावा, ई-कॉर्मस के माध्यम से आवश्क वस्तुओं की डिलीवरी को छूट रहेगी।

इनमें भोजन, फार्मास्यूटिकल, मेडिकल उपकरण आदि की डिलीवरी शामिल हैं। पैट्रोल पंप, एलपीजी गैस आदि के स्टोर आउटलेट भी खुले रहेंगे। बिजली निर्माण, प्रसारण और वितरण संबंधी सेवाएं, कोल्ड स्टोर, वेयरहाउस, प्राइवेट सिक्योरिटी सर्विस के अलावा खेती से जुड़े कार्यो के लिए किसानों और मजदूरों के आवागमन पर छूट रहेेगी।

रेस्टोरेंट और होटल आदि केवल होम डिलिवरी के लिए खोले जाएंगे। राज्य में अंतर्राज्यीय कटाई और बिजाई के कार्यो के लिए कृषि एवं बागवानी में उपयुक्त होने वाले उपकरणों के लिए राज्य के अंदर व राज्य के बाहर आवागमन में छूट रहेगी। एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन या अंतर्राज्यीय बस स्टैंड के लिए आने-जाने वाले यात्रियों को छूट दी जाएगी।

जिला मजिस्ट्रेट या अन्य प्राधिकृत से पूर्व अनुमति ले चुके विवाह समारोह के लिए शर्तों के साथ छूट रहेगी। इसके लिए इंडोर कार्यक्रम के लिए 30 और आउटडोर के लिए 50 व्यक्तियों से अधिक का कार्यक्रम नहीं किया जा सकेगा। मुख्य सचिव की ओर से जारी निर्देशों में कहा गया है कि इस लॉकडाउन की अवधि में छूट प्रदान की गई है इसके बावजूद जो भी प्रोटोकोल स्वास्थ्य विभाग द्वारा समय-समय पर बताएं जाएं संगठन/ नियोक्ता उनका सख्ती से पालन करवाना सुनिश्चित करेगें।

सभी औद्योगिक इकाईयों, उद्योगपतियों एवं संबंधितों को सरल हरियाणा पोर्टल पर पास के लिए आवेदन करना अनिवार्य है।

जारी निर्देशों मे स्पष्टï रूप से कहा गया है कि संबंधित क्षेत्रों मेें उक्त प्रतिबंधों का पालन न करने वालों के खिलाफ सेक्शन 51 से 60 और आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 के अलावा आईपीसी की धारा 188 के तहत कानूनी कार्रवाई होगी।

हिसार में सूर्य नगर के अलावा अर्बन एस्टेट और मॉडल टाउन बने कंटेनमेंट जोन


उपायुक्त डा. प्रियंका सोनी एवं डीआइजी बलवान सिंह राणा के नेतृत्व में सूर्य नगर, अर्बन एस्टेट तथा मॉडल टाउन क्षेत्रों में फ्लैग मार्च निकाला गया। इन तीनों क्षेत्रों में कुछ इलाकों को कंटेनमेंट जोन बनाया गया है। जहां बिना जरूरी कार्य के आने जाने पर पूरी तरह पाबंदी रहेगी। इसके साथ ही पास के साथ ही एंट्री दी जाएगी। डीसी ने फ्लैग मार्च के दौरान कंटेनमेंट एवं बफर जोन में व्यवस्थाओं एवं पुलिस प्रबंधों की समीक्षा की। इंसिडेंट कमांडर व पुलिस अधिकारियों-कर्मचारियों को जरूरी दिशा-निर्देश जारी किये गए। अब इन क्षेत्रों से गैर जरूरी कार्यों के लिए लोगों के आने जाने पर पाबंदी रहेगी। हालांकि यहां किस प्रकार से लोगों को जरूरी सुविधाएं मुहैया कराई जाएगी

कंटेनमेंट जोन में यह होंगी पाबंदियां

- इन क्षेत्रों में आशा वर्कर और एएनएम डोर टू डोर सर्वे करेंगी। यह कार्य एक चिकित्सक की निगरानी में किया जाएगा। इसके साथ ही कंटेनमेंट जोन व बफर जोन को सैनिटाइज कराया जाएगा। कंटेनमेंट जोन में आने जाने पर पूरी तरह से पाबंदी रहेगी। आने जाने पर लोगों की थर्मल स्कैनिग की जाएगी। जरूरी सुविधाओं का प्रबंधन किया जाएगा। संबंधित एसडीएम की अनुमति के साथ ही वाहनों को आने जाने की अनुमति रहेगी। इसके साथ ही जरूरी सेवाएं देने के लिए भी एसडीएम से ही अनुमति लेकर पास जारी कराना होगा। 9 मई को कंटेनमेंट जोन का समय पूरा होगा।

कंटेनमेंट एवं बफर जोन

-- सूर्य नगर गली नंबर 10, 13 व 19 को कंटेनमेंट जोन बनाया गया है। सूर्य नगर के बाकी क्षेत्र बफर जोन रहेंगे

--अर्बन एस्टेट-2 में डाबड़ा चौक से बाएं तरफ का मार्ग, एमसी डीसी कॉलोनी, सुखदा अस्पताल के पास प्रवेश मार्ग, नजदीक सैनी स्वीट्स मार्ग, जिदल चौक के समीप प्रवेश मार्ग, गणपति स्वीट्स के नजदीक प्रवेश मार्ग, डिप्टी सीएम आवास के समीप प्रवेश मार्ग कन्टेनमेंट जोन बनाए गए हैं। बाकी क्षेत्र बफर जोन रहेंगे। मॉडल टाउन में जिदल चौक, तोशाम रोड तथा सिरसा रोड़ की तरफ से प्रवेश मार्ग कंटेनमेंट एवं बाकी के क्षेत्र बफर जोन रहेंगे। ये रहेगी सख्ती

कंटेनमेंट जोन में दूध, किरयाना, सब्जी एवं फल तथा दवा इत्यादि जैसी आवश्यक वस्तुओं की दुकानें खुली रहेगी। नौकरीपेशा लोग आवागमन कर सकेंगे बशर्ते वे जो अपना कोविड टेस्ट कराएंगे और नेगेटिव रिपोर्ट प्रस्तुत करेंगे।

हरियाणा में लॉकडाउन को लेकर यह है ताजा अपडेट, CM खट्टर ने गुरुग्राम, फरीदाबाद समेत इन 6 जिलों के लिए जारी किए आदेश (Haryana Lockdown Update)

हरियाणा की मनोहर लाल खट्टर सरकार ने भी कोरोना पर काबू पाने के लिए कई प्रतिबंधों की घोषणा की है. खट्टर सरकार ने गुरुग्राम, फरीदाबाद, हिसार, करनाल, सोनीपत और रोहतक के उपायुक्तों से जरूरत पड़ने पर धारा 144 लागू करने के लिए कहा गया है, ताकि कोविड-19 मामलों में बढ़ोतरी को काबू किया जा सके.

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कोरोना वायरस नियंत्रण समिति की राज्य स्तरीय बैठक की अध्यक्षता करने के बाद कहा कि गुरुग्राम, फरीदाबाद, हिसार, करनाल, सोनीपत और रोहतक के उपायुक्तों को आवश्यकता पड़ने पर धारा 144 लागू करने के लिए कहा गया है, ताकि कोविड-19 मामलों में बढ़ोतरी को काबू किया जा सके. उन्होंने राज्य में लॉकडाउन लागू करने से इनकार कर दिया, लेकिन कहा कि सबसे ज्यादा प्रभावित छह जिलों में 'लॉकडाउन जैसे प्रतिबंध' होंगे.

उन्होंने कहा कि सरकारी और निजी कार्यालयों को कर्मियों की भीड़ एकत्र करने से बचना चाहिए और कर्मचारियों से 'घर से काम की संस्कृति' अपनाने को कहना चाहिए ताकि संक्रमण की श्रृंखला तोड़ी जा सके. बयान में बताया गया कि मुख्यमंत्री ने राज्य में कार्यक्रमों में लोगों के जुटने पर सख्त पाबंदी लगाते हुए भीतर और बाहर आयोजित समारोहों में 50 लोगों की अधिकतम सीमा तय की. उन्होंने कहा कि अंतिम संस्कार के लिए केवल 20 लोगों को अनुमति दी जाएगी. इससे पहले, खुले में सभाओं की सीमा 500 और भवन के लिए 200 थी.

उन्होंने लोगों से विवाह कार्यक्रमों को स्थगित करने के लिए कहा. उन्होंने कहा, 'अधिकारी केवल 50 लोगों की सीमा के साथ ही सभाओं की अनुमति देंगे.' मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकारी और निजी दोनों अस्पतालों को संक्रमण रोगियों के लिए अपने बिस्तरों का 50 प्रतिशत आरक्षित रखने के लिए कहा गया है. उन्होंने कहा कि रोहतक के पीजीआई में 1,000 बिस्तर का इंतजाम किया गया है. खट्टर ने कहा कि सरकारी अस्पतालों में ऑक्सीजन की सुविधा के साथ अब कम से कम 2,250 बिस्तर होंगे.

खट्टर ने कहा कि उनकी सरकार ने बोकारो स्टील प्लांट से 6,000 मीट्रिक टन तरल मेडिकल ऑक्सीजन का ऑर्डर दिया है, जो जल्द ही एक विशेष ट्रेन से पहुंचेगा. उन्होंने कहा कि गैर-जरूरी वस्तुओं के लिए उद्योग में तरल ऑक्सीजन के उपयोग पर प्रतिबंध लगा दिया गया है. इसके अलावा राज्य भर के सरकारी अस्पतालों में ओपीडी सेवाओं को बंद कर दिया गया है. खट्टर ने कहा कि पूरे राज्य में सरकारी और निजी क्षेत्र के कार्यालयों में केवल 50 प्रतिशत उपस्थिति की अनुमति होगी.

इसके साथ-साथ उन्होंने कहा कि एक मई से सरकारी इकाइयों में 18 साल से अधिक उम्र के लोगों को मुफ्त में कोविड-19 टीके लगाए जाएंगे. हरियाणा में शुक्रवार को कोविड-19 से 60 मरीजों की मौत हो गई और इसके 11,854 नये मामले सामने आये.

एचडीएफसी बैंक शुरू करेगा मोबाइल एटीएम सेवा (HDFC BANK MOBILE ATM TO BE STARTED)



निजी क्षेत्र की एचडीएफसी बैंक ने शनिवार को घोषणा की कि वह देश के कई प्रमुख शहरों में चलित एटीएम सेवा फिर शुरू करेगी। कई राज्यों में कोरोना की दूसरी लहर के कारण लाॅकडाउन लगाया गया है। ऐसे में लोग पैसा निकालने व अन्य बैंक सेवाओं के लिए बैंक तो छोड़ दीजिए एटीएम तक भी नहीं जा पा रहे हैं। ऐसे में बैेंक ने इस सेवा की पहल की है।

बैंक द्वारा जारी बयान में कहा गया है कि इस सुविधा से लोग घर के पास पहुंचने वाली मोबाइल एटीएम वैन से नकद पैसा निकाल सकेंगे। इससे उन्हें कोविड-19 के संक्रमण का खतरा भी नहीं रहेगा और घर बैठे बैंक सुविधा मिल सकेगी। दिनभर में ये चलित एटीएम किसी शहर के अलग-अलग हिस्सों में घूमेंगे और तय समय तक वहां रुकेंगे। इनके जरिए 15 तरह के लेन-देन भी किए जा सकेंगे।

बायजू एक रणनीतिक विलय के माध्यम से आकाश एजुकेशनल सर्विसेज का अधिग्रहण कर रहा है


भारत के सबसे बड़े ऑनलाइन-शिक्षा स्टार्टअप बायजू ने सोमवार को कहा कि उसने एक रणनीतिक विलय के माध्यम से आकाश एजुकेशनल सर्विसेज लिमिटेड का अधिग्रहण किया है। बायजू रवेन्द्रन ने कहा कि यह आकाश के विकास को गति देने के लिए और निवेश करेगा।

अधिग्रहण के बाद, आकाश एजुकेशनल सर्विसेज संस्थापक जेसी चौधरी और आकाश चौधरी के नेतृत्व में स्वतंत्र रूप से काम करती रहेगी।

BYJU’S के संस्थापक और सीईओ, बायजू रवेन्द्रन ने कहा, “मैं Aakash Educational Services Limited (AESL), एक मार्केट लीडर और टेस्ट प्रीप सेवाओं में सबसे भरोसेमंद नाम, हम पर खुश हूं। हमारी पूरक ताकत हमें क्षमताओं का निर्माण करने, आकर्षक और व्यक्तिगत सीखने के कार्यक्रम बनाने में सक्षम करेगी। सीखने का भविष्य हाइब्रिड है और यह संघ ऑफ़लाइन और ऑनलाइन सीखने का सबसे अच्छा साथ लाएगा, क्योंकि हम छात्रों के लिए प्रभावी अनुभव बनाने के लिए अपनी विशेषज्ञता को जोड़ते हैं। "

ब्लैकस्टोन समूह भी समर्थित आकाश एजुकेशनल सर्विसेज आकाश इंस्टीट्यूट चलाती है, जिसमें देश के छात्र इंजीनियरिंग और मेडिकल स्कूलों में प्रवेश पाने के लिए 200 से अधिक    सेंटर  हैं।

बंगलौर-मुख्यालय वाले बायजू की 2020 में $ 1.25 बिलियन से अधिक की वृद्धि हुई थी और इसका मूल्य ब्लैकरॉक और टी रोवे मूल्य से पिछले नवंबर में लगभग 200 मिलियन डॉलर होने के बाद इसका मूल्य $ 12 बिलियन था। भारत के दूसरे सबसे मूल्यवान स्टार्टअप को फेसबुक के संस्थापक मार्क जुकरबर्ग के चैन जुकरबर्ग इनिशिएटिव, टाइगर ग्लोबल मैनेजमेंट और बॉन्ड कैपिटल द्वारा समर्थित है, जो सिलिकॉन वैली निवेशक मैरी मीकर द्वारा सह-स्थापित है।

प्याली-हार्डवेयर सडक़ निर्माण की मांग को लेकर भूख हड़ताल दूसरे दिन भी रही जारी

प्याली-हार्डवेयर सडक़ निर्माण की मांग को लेकर भूख हड़ताल दूसरे दिन भी रही जारी.

फरीदाबाद, 4 अप्रैल : प्याली-हार्डवेयर सडक़ निर्माण की मांग को लेकर धरने पर बैठे अनशनकारी बाबा रामकेवल के नेतृत्व में आज दूसरे दिन भी समाजसेवी अभिषेक गोस्वामी भूख हड़ताल पर डटे रहे। इस दौरान क्षेत्र की विभिन्न सामाजिक संस्थाओं के पदाधिकारियों ने बाबा रामकेवल व अभिषेक गोस्वामी को समर्थन किया।

समर्थन करने वालों में इनेलो, आप, कांग्रेस, न्यू जनता कालोनी आरडब्ल्यूए,  संस्कार फाउण्डेशन, टीम पुरूष आयोग, लोक अधिकार सरंक्षण मंच ने शामिल थे।
इस मौके पर उपस्थित लोगों को सम्बोधित करते हुए अनशनकारी बाबा रामकेवल व समाजसेवी अभिषेक गोस्वामी ने कहा कि भूख हड़ताल शुरू होने के बाद आज दूसरे दिन भी निगम कोई अधिकारी धरना स्थल पर नहीं आया। उन्होंने कहा कि अगर निगम ने प्याली-हार्डवेयर सडक़ निर्माण में क्या कार्यवाही की है, वह स्पष्ट करें। कल 5 अप्रैल को सुबह नौ बजे धरना स्थल पर युवा साथी, विभिन्न संगठनों के पदाधिकारी, व सामाजिक संगठन के सदस्य बिजली बिलों के मुद्दे को लेकर धरना स्थल प्याली चौक पर एकत्र होगें उसके बाद बिजली विभाग के एसई को सैक्टर-23 स्थित कार्यालय पर जाकर ज्ञापन देगेंं

आज की भूख हड़ताल में अन्य के अलावा वरूण श्योकंद, राकेश उर्फ रक्कू, परमिता चौधरी, प्रीतपाल सिंह, प्रमोद भड़ाना, राजू बैंसला, गुलबीर, संजय पांचाल, हरजिन्दर मेंहदीरत्ता, संतोष बृजवासी, काले सलूजा, कमला, साहिल मग्गू, गौरव, कुलदीप सिंह, मंजीत सिंह शामिल थे।

4एफबीडी-5
प्याली-हार्डवेयर सडक़ निर्माण की मांग को लेकर दूसरे दिन भूख हड़ताल पर बैठे समाजसेवी अभिषेक गोस्वामी साथ है अनशनकारी बाबा रामकेवल, प्रमोद भड़ाना, राजू बैंसला व अन्य।

साईधाम ट्रस्ट सेक्टर 86 में लगाया गया कोविड-19 वैक्सीनेशन कैंप।

फरीदाबाद। 4/4/21/ फरीदाबाद के सेक्टर 86 स्थित साईधाम ट्रस्ट में एक कोविड 19 वैक्सीनेशन कैंप लगाया गया ।जिसका शुभारंभ साईधाम ट्रस्ट के चेयरमैन डा मोतीलाल गुप्ता के दिशा-निर्देश अनुसार हरियाणा रेडक्रास सोसायटी की चेयरपर्सन सुषमा गुप्ता, फरीदाबाद रेडक्रास सोसायटी के जिला सचिव विकास कुमार,साईधाम ट्रस्ट से श्री पिल्लै के कर-कमलों से हुआ।

इस कैंप में जिला उपायुक्त यशपाल यादव और बी के हास्पिटल का विशेष सहयोग रहा।कैंप में सौशल डिस्टेंस का ध्यान रखते हुये लोगों कै बैठने और पानी का विशेष प्रबंध साईधाम ट्रस्ट की और से किया गया।साईधाम के मि पिल्लै ने बताया कि अभी तक 285 लोग रजिस्ट्रेशन करा चुके है और दो सौ लोगों को इंजेक्शन दिया जा चुका है उन्होंने बताया कि वैक्सीनेशन के आधे घंटे तक लोगों को यहीं बैठाया जाता ।पर अभी तक एक भी केस में कोई दिक्कत नहीं आई है और सब के सब स्वस्थ हैं।

साईधाम ट्रस्ट के चेयरमैन डा मोतीलाल गुप्ता ने फोन पर बताया कि साईधाम ट्रस्ट हमेशा से ही सामाजिक और धार्मिक कार्यों में आगे रहता हैैं चाहें कोरोनाकाल जैसे कठिन समय में लोगों को राशन और खाना उपलब्ध कराना हो या फिर गरीब बच्चों को निशुल्क शिक्षा भोजन वर्दी आदि उपलब्ध कराना हो। उन्होंने हमारे संवाददाता को बताया कि हमारे निशुल्क विद्यालय की पढ़ाई का स्तर ,रहन सहन और खाना फरीदाबाद के महंगे सकूलों से बेहतर है।