हिसार लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
हिसार लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

हिसार में सूर्य नगर के अलावा अर्बन एस्टेट और मॉडल टाउन बने कंटेनमेंट जोन


उपायुक्त डा. प्रियंका सोनी एवं डीआइजी बलवान सिंह राणा के नेतृत्व में सूर्य नगर, अर्बन एस्टेट तथा मॉडल टाउन क्षेत्रों में फ्लैग मार्च निकाला गया। इन तीनों क्षेत्रों में कुछ इलाकों को कंटेनमेंट जोन बनाया गया है। जहां बिना जरूरी कार्य के आने जाने पर पूरी तरह पाबंदी रहेगी। इसके साथ ही पास के साथ ही एंट्री दी जाएगी। डीसी ने फ्लैग मार्च के दौरान कंटेनमेंट एवं बफर जोन में व्यवस्थाओं एवं पुलिस प्रबंधों की समीक्षा की। इंसिडेंट कमांडर व पुलिस अधिकारियों-कर्मचारियों को जरूरी दिशा-निर्देश जारी किये गए। अब इन क्षेत्रों से गैर जरूरी कार्यों के लिए लोगों के आने जाने पर पाबंदी रहेगी। हालांकि यहां किस प्रकार से लोगों को जरूरी सुविधाएं मुहैया कराई जाएगी

कंटेनमेंट जोन में यह होंगी पाबंदियां

- इन क्षेत्रों में आशा वर्कर और एएनएम डोर टू डोर सर्वे करेंगी। यह कार्य एक चिकित्सक की निगरानी में किया जाएगा। इसके साथ ही कंटेनमेंट जोन व बफर जोन को सैनिटाइज कराया जाएगा। कंटेनमेंट जोन में आने जाने पर पूरी तरह से पाबंदी रहेगी। आने जाने पर लोगों की थर्मल स्कैनिग की जाएगी। जरूरी सुविधाओं का प्रबंधन किया जाएगा। संबंधित एसडीएम की अनुमति के साथ ही वाहनों को आने जाने की अनुमति रहेगी। इसके साथ ही जरूरी सेवाएं देने के लिए भी एसडीएम से ही अनुमति लेकर पास जारी कराना होगा। 9 मई को कंटेनमेंट जोन का समय पूरा होगा।

कंटेनमेंट एवं बफर जोन

-- सूर्य नगर गली नंबर 10, 13 व 19 को कंटेनमेंट जोन बनाया गया है। सूर्य नगर के बाकी क्षेत्र बफर जोन रहेंगे

--अर्बन एस्टेट-2 में डाबड़ा चौक से बाएं तरफ का मार्ग, एमसी डीसी कॉलोनी, सुखदा अस्पताल के पास प्रवेश मार्ग, नजदीक सैनी स्वीट्स मार्ग, जिदल चौक के समीप प्रवेश मार्ग, गणपति स्वीट्स के नजदीक प्रवेश मार्ग, डिप्टी सीएम आवास के समीप प्रवेश मार्ग कन्टेनमेंट जोन बनाए गए हैं। बाकी क्षेत्र बफर जोन रहेंगे। मॉडल टाउन में जिदल चौक, तोशाम रोड तथा सिरसा रोड़ की तरफ से प्रवेश मार्ग कंटेनमेंट एवं बाकी के क्षेत्र बफर जोन रहेंगे। ये रहेगी सख्ती

कंटेनमेंट जोन में दूध, किरयाना, सब्जी एवं फल तथा दवा इत्यादि जैसी आवश्यक वस्तुओं की दुकानें खुली रहेगी। नौकरीपेशा लोग आवागमन कर सकेंगे बशर्ते वे जो अपना कोविड टेस्ट कराएंगे और नेगेटिव रिपोर्ट प्रस्तुत करेंगे।

हरियाणा में लॉकडाउन को लेकर यह है ताजा अपडेट, CM खट्टर ने गुरुग्राम, फरीदाबाद समेत इन 6 जिलों के लिए जारी किए आदेश (Haryana Lockdown Update)

हरियाणा की मनोहर लाल खट्टर सरकार ने भी कोरोना पर काबू पाने के लिए कई प्रतिबंधों की घोषणा की है. खट्टर सरकार ने गुरुग्राम, फरीदाबाद, हिसार, करनाल, सोनीपत और रोहतक के उपायुक्तों से जरूरत पड़ने पर धारा 144 लागू करने के लिए कहा गया है, ताकि कोविड-19 मामलों में बढ़ोतरी को काबू किया जा सके.

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कोरोना वायरस नियंत्रण समिति की राज्य स्तरीय बैठक की अध्यक्षता करने के बाद कहा कि गुरुग्राम, फरीदाबाद, हिसार, करनाल, सोनीपत और रोहतक के उपायुक्तों को आवश्यकता पड़ने पर धारा 144 लागू करने के लिए कहा गया है, ताकि कोविड-19 मामलों में बढ़ोतरी को काबू किया जा सके. उन्होंने राज्य में लॉकडाउन लागू करने से इनकार कर दिया, लेकिन कहा कि सबसे ज्यादा प्रभावित छह जिलों में 'लॉकडाउन जैसे प्रतिबंध' होंगे.

उन्होंने कहा कि सरकारी और निजी कार्यालयों को कर्मियों की भीड़ एकत्र करने से बचना चाहिए और कर्मचारियों से 'घर से काम की संस्कृति' अपनाने को कहना चाहिए ताकि संक्रमण की श्रृंखला तोड़ी जा सके. बयान में बताया गया कि मुख्यमंत्री ने राज्य में कार्यक्रमों में लोगों के जुटने पर सख्त पाबंदी लगाते हुए भीतर और बाहर आयोजित समारोहों में 50 लोगों की अधिकतम सीमा तय की. उन्होंने कहा कि अंतिम संस्कार के लिए केवल 20 लोगों को अनुमति दी जाएगी. इससे पहले, खुले में सभाओं की सीमा 500 और भवन के लिए 200 थी.

उन्होंने लोगों से विवाह कार्यक्रमों को स्थगित करने के लिए कहा. उन्होंने कहा, 'अधिकारी केवल 50 लोगों की सीमा के साथ ही सभाओं की अनुमति देंगे.' मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकारी और निजी दोनों अस्पतालों को संक्रमण रोगियों के लिए अपने बिस्तरों का 50 प्रतिशत आरक्षित रखने के लिए कहा गया है. उन्होंने कहा कि रोहतक के पीजीआई में 1,000 बिस्तर का इंतजाम किया गया है. खट्टर ने कहा कि सरकारी अस्पतालों में ऑक्सीजन की सुविधा के साथ अब कम से कम 2,250 बिस्तर होंगे.

खट्टर ने कहा कि उनकी सरकार ने बोकारो स्टील प्लांट से 6,000 मीट्रिक टन तरल मेडिकल ऑक्सीजन का ऑर्डर दिया है, जो जल्द ही एक विशेष ट्रेन से पहुंचेगा. उन्होंने कहा कि गैर-जरूरी वस्तुओं के लिए उद्योग में तरल ऑक्सीजन के उपयोग पर प्रतिबंध लगा दिया गया है. इसके अलावा राज्य भर के सरकारी अस्पतालों में ओपीडी सेवाओं को बंद कर दिया गया है. खट्टर ने कहा कि पूरे राज्य में सरकारी और निजी क्षेत्र के कार्यालयों में केवल 50 प्रतिशत उपस्थिति की अनुमति होगी.

इसके साथ-साथ उन्होंने कहा कि एक मई से सरकारी इकाइयों में 18 साल से अधिक उम्र के लोगों को मुफ्त में कोविड-19 टीके लगाए जाएंगे. हरियाणा में शुक्रवार को कोविड-19 से 60 मरीजों की मौत हो गई और इसके 11,854 नये मामले सामने आये.

हिसार बस स्टैंड के पास बैंक में आग - Fire in Hisar Punjab National Bank

 


हिसार बस स्टैंड के पास सिरसा रोड स्थित पंजाब नेशनल बैंक में बुधवार की रात को अचानक आग लग गई. आग लगने के कारण और जान माल के नुकसान की हानि का अभी पता नही चल पाया हैं.

मंदिर के पीछे फूलों के बीच में लगा दिए अफीम के पौधे


पेटवाड़ में श्री राम समाधा मंदिर के पीछे बने तालाब के चारों तरफ लगे पौधों के बीच किसी ने अफीम के पौधे लगा दिए। पुलिस ने मौके पर रेड कर पौधे बरामद कर लिए। छोटे-बड़े कुल 187 पौधे लगे मिले। पुलिस ने मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है।

मामला एएसआई रमेश चंद की शिकायत पर दर्ज किया गया है। शिकायत में उन्होंने कहा कि वह टीम के साथ थुराना रोड पेट्रोल पंप पेटवाड़ में मौजूद थे कि मुखबिर ने सूचना दी कि पेटवाड़ के श्री राम समाधा मंदिर के पीछे बने तालाब के चारों तरफ विभिन्न प्रकार के फूल पौधों के बीच किसी ने अफीम के पौधे भी लगाए हुए हैं। इन पर लाल रंग के फूल व छोटे-छोटे डोडे लगे हुए हैं। अगर रेड की जाए तो नशीले अफीम के पौधे बरामद हो सकते हैं। पुलिस मौके पर पहुंची तो मंदिर परिसर में काफी संख्या में बुजुर्ग व युवक अपनी-अपनी टोलियों में बैठे हुए मिले। लोगों ने कहा कि मंदिर में हर रोज सैकड़ों व्यक्ति आते-जाते व बैठे रहते हैं। किसी को यह नहीं पता कि यह पौधे फूलों के हैं या किसी नशीले पदार्थ के। हर कोई व्यक्ति मंदिर में फूल व पौधे लगाता है। मामले की जानकारी आला अधिकारियों को दी गई।

जानकारी मिलने पर एसडीएम विकास यादव और डीएसपी जुगल किशोर ने मौके पर आकर नशीले पौधों अफीम का निरीक्षण करके हिदायत दी कि पौधों की गिनती करके व फोटो उतारकर पौधों को उखाड़कर एक कट्टा प्लास्टिक में डालकर वजन किया जाए। पौधों को उखाड़कर गिनती की गई तो कुल 187 छोटे व बड़े पौधे मिले। पौधों पर लाल रंग के फूल व हरे रंग के डोडे लगे हुए मिले।

उखाड़े गए पौधों को प्लास्टिक के कट्टा में डालकर वजन किया गया। कुल वजन 23 किलो 400 ग्राम मिला। नारनौंद पुलिस ने मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी।

एक्सटेंशन फीस में 12 पैसे ज्यादा भरने पर लाखों का नुकसान

एचएसवीपी द्वारा तीन मार्च को इनहांसमेंट पर जारी लास्ट एंड फाइनल सेटलमेंट स्कीम में बड़े स्तर पर गड़बड़ी के मामले सामने आ रहे हैं। लेकिन स्कीम लांच होने के 11 दिन बाद भी एचएसवीपी द्वारा राशि अपडेट में हुई गड़बड़ियों को ठीक करने के लिए कोई प्रभावी प्रक्रिया नहीं अपनायी गई है। प्लाटधारक हुडा दफ्तरों के चक्कर लगा रहे हैं। इस स्कीम के तहत जिन 58 सेक्टरों के 15430 प्लाटों की राशि अपडेट हुई है।

सभी सेक्टरों में पीपीएम सॉफ्टवेयर की गड़बड़ी से कई प्लाटधारकों के खातों में गलत राशि अपडेट हुई है। ऑल सेक्टर रेजिडेंट्स वेलफेयर एसोसिएशन ने मुख्यमंत्री से इस स्कीम को होल्ड कर, सॉफ्टवेयर की गड़बडिय़ों को ठीक कर, नियमों के अनुसार पुनः राशि अपडेट करने की मांग की है। एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष कुलदीप वत्स ने बताया कि राशि अपडेट होने के बाद एक सेक्टर में एक समान साइज के प्लाटों की राशि स्क्वेयर मीटर व गज में एक समान राशि आनी चाहिए। लेकिन किसी सेक्टर में ऐसा नहीं हुआ।

अगर किसी प्लाटधारक ने एक्सटेंशन फीस या अन्य कोई भी राशि भरते समय एक रुपया भी ज्यादा जमा करवा रखा है तो सॉफ्टवेयर उसे इनहांसमेंट की पहली किश्त मानकर, अलाटी को डिफाल्टर की श्रेणी से बाहर कर रहा है।

इसी वजह से हजारों प्लाटधारकों को इस सेटलमेंट स्कीम का पूर्ण लाभ नहीं मिल रहा। मात्र एक रुपये या दो रुपये ज्यादा भरने पर अलॉटियों के खातों में लाखों रुपये ज्यादा की इनहांसमेंट राशि अपडेट हुई है। वत्स ने कहा इस पूरे मामले पर मुख्यमंत्री के प्रिंसिपल सेक्रेटरी वीं उमाशंकर से पुनः विस्तार से बात हुई है।

एचएसवीपी द्वारा तीन मार्च को इनहांसमेंट पर जारी लास्ट एंड फाइनल सेटलमेंट स्कीम में बड़े स्तर पर गड़बड़ी के मामले सामने आ रहे हैं। लेकिन स्कीम लांच होने के 11 दिन बाद भी एचएसवीपी द्वारा राशि अपडेट में हुई गड़बड़ियों को ठीक करने के लिए कोई प्रभावी प्रक्रिया नहीं अपनायी गई है। प्लाटधारक हुडा दफ्तरों के चक्कर लगा रहे हैं। इस स्कीम के तहत जिन 58 सेक्टरों के 15430 प्लाटों की राशि अपडेट हुई है।

सभी सेक्टरों में पीपीएम सॉफ्टवेयर की गड़बड़ी से कई प्लाटधारकों के खातों में गलत राशि अपडेट हुई है। ऑल सेक्टर रेजिडेंट्स वेलफेयर एसोसिएशन ने मुख्यमंत्री से इस स्कीम को होल्ड कर, सॉफ्टवेयर की गड़बडिय़ों को ठीक कर, नियमों के अनुसार पुनः राशि अपडेट करने की मांग की है। एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष कुलदीप वत्स ने बताया कि राशि अपडेट होने के बाद एक सेक्टर में एक समान साइज के प्लाटों की राशि स्क्वेयर मीटर व गज में एक समान राशि आनी चाहिए। लेकिन किसी सेक्टर में ऐसा नहीं हुआ।

अगर किसी प्लाटधारक ने एक्सटेंशन फीस या अन्य कोई भी राशि भरते समय एक रुपया भी ज्यादा जमा करवा रखा है तो सॉफ्टवेयर उसे इनहांसमेंट की पहली किश्त मानकर, अलाटी को डिफाल्टर की श्रेणी से बाहर कर रहा है। इसी वजह से हजारों प्लाटधारकों को इस सेटलमेंट स्कीम का पूर्ण लाभ नहीं मिल रहा। मात्र एक रुपये या दो रुपये ज्यादा भरने पर अलॉटियों के खातों में लाखों रुपये ज्यादा की इनहांसमेंट राशि अपडेट हुई है। वत्स ने कहा

इस पूरे मामले पर मुख्यमंत्री के प्रिंसिपल सेक्रेटरी वीं उमाशंकर से पुनः विस्तार से बात हुई है।

इस स्कीम के तहत किसी प्लाटधारक के खाते में गलत राशि अपडेट में हुई है तो वो एक्सटेंशन फीस या अन्य कोई बकाया की ज्यादा भरी गई राशि की रसीद संलग्न कर ,अपनी लिखित शिकायत एचएसवीपी कार्यालय में जमा करवाएं।

इन सभी प्लाटधारकों की आपत्तियों पर एचएसवीपी मुख्य प्रशासक की अध्यक्षता में गठित ग्रीवांस कमेटी अन्तिम निर्णय लेगी। इस स्कीम को 3 मार्च से 30 अप्रैल तक दो माह के लिए लांच किया गया है। इसलिए सभी अलाटी जिनके खातों में गलत राशि अपडेट हुई है, जल्द अपनी शिकायत जोनल कार्यालयों में दर्ज करवाएं। तथा एक काॅपी मैनवल, मेल या डाक से एचएसवीपी के मुख्य प्रशासक पंचकूला को भेजें।

समझिए... यूं मुसीबत बन गई राहत योजना

1. हिसार सेक्टर 16,17, 13 पार्ट के प्लाट न.1259पी (404 गज) के अलाटी को मात्र 12 पैसे एक्सटेंशन फीस ज्यादा भरने पर लगभग 15.50 लाख रुपये अधिक राशि अपडेट हुई है। दरअसल अलाटी ने वर्ष 2016 तक की सात साल की एक्सटेंशन फीस राशि 32410 रु 88 पैसे भरते समय 32411 रुपये (मात्र 12 पैसे) ज्यादा जमा करवा दिए। जिसके कारण सॉफ्टवेयर ने 12 पैसे को इनहांसमेंट की किश्त मानकर प्लाट को डिफाल्टर की श्रेणी से बाहर कर दिया। उसको राशि अपडेट के बाद कुल देय राशि 22 लाख 12910 रुपये से घटाकर 20 लाख 19912 रुपये (मात्र 8.72 प्रतिशत) अपडेट की गयी है। जबकि इसी सेक्टर में अन्य डिफाल्टर श्रेणी के प्लाटधारकों की लगभग 81 प्रतिशत की तक राशि घटी है। यानि इस 12 पैसे के लिए लगभग 15.50 लाख रुपये अधिक राशि की डिमांड एचएसवीपी कर रहा है।

2. इस प्रकार हिसार सेक्टर- 3 में प्लाट न.-154 के (200 गज) की राशि अपडेट के बाद मात्र 5.79 प्रतिशत घटी है। इस अलॉटी ने एक्सटेंशन फीस भरते समय 583 रुपये की बजाय 590 रुपये यानि सात रुपये ज्यादा भर दिए। इसी 7 रुपये ज्यादा अदा करने पर अलॉटी को अन्य प्लाटधारकों से लगभग 7.30 लाख रुपये ज्यादा इनहांसमेंट राशि भरनी पड़ रही है। इसी सेक्टर में राशि अपडेट के बाद 60.32 प्रतिशत घटी है। सेक्टरों में बड़ी संख्या में ऐसे मामले सामने आ रहें हैं।

2 लोगों की हत्या और 6 के हत्या प्रयास का मामले में 12 आरोपियों को सोमवार को सजा होगी (2 Murder and 12 Attempt Murder Culprits to be inprison)


नारनौंद के गांव बड़छप्पर में फरवरी 2010 में शामलाती भूमि पर बनी कुरड़ी को कब्जाने के दौरान हुए विवाद में 2 लोगों की गोलियां मारकर हत्या करने और अन्य 6 लोगों की हत्या का प्रयास करने के मामले में 12 दोषियों को अब 22 फरवरी को सजा सुनाई जाएगी। बता दें कि इस मामले में 15 आरोपी थे। इनमें से 2 ओमप्रकाश और चांद की मौत हो चुकी है और एक जुवनाइल है।

अदालत ने मामले में आरोपी बड़छप्पर वासी परसराम और इसके पुत्र कृष्ण, माला, इसके भाई मोहन उर्फ मोहिनी, भोलू और बजिंद्र उर्फ कालू के अलावा गांव के गंगादत्त, कलम सिंह, देवी राम, सुरेंद्र उर्फ छंगा, जींद वासी सोनू और रोहतक के गांव निडाना वासी जीवना को दोषी करार दिया है।

अभियोग के अनुसार फरवरी 2010 को नारनौंद थाना में धारा 148, 149, 307, 302 और शस्त्र अधिनियम के तहत केस दर्ज किया गया था। शिकायतकर्ता रामकेश ने बताया था कि शामलाती भूमि पर गोबर इत्यादि डालने के लिए कुरड़ी बना रखी थी। परसराम, ओम प्रकाश इत्यादि शामलाती भूमि व कुरड़ी पर कब्जा करना चाहते थे। इसको लेकर हुए विवाद में दोहरा हत्याकांड हुआ था।