देश लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
देश लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

एचडीएफसी बैंक शुरू करेगा मोबाइल एटीएम सेवा (HDFC BANK MOBILE ATM TO BE STARTED)



निजी क्षेत्र की एचडीएफसी बैंक ने शनिवार को घोषणा की कि वह देश के कई प्रमुख शहरों में चलित एटीएम सेवा फिर शुरू करेगी। कई राज्यों में कोरोना की दूसरी लहर के कारण लाॅकडाउन लगाया गया है। ऐसे में लोग पैसा निकालने व अन्य बैंक सेवाओं के लिए बैंक तो छोड़ दीजिए एटीएम तक भी नहीं जा पा रहे हैं। ऐसे में बैेंक ने इस सेवा की पहल की है।

बैंक द्वारा जारी बयान में कहा गया है कि इस सुविधा से लोग घर के पास पहुंचने वाली मोबाइल एटीएम वैन से नकद पैसा निकाल सकेंगे। इससे उन्हें कोविड-19 के संक्रमण का खतरा भी नहीं रहेगा और घर बैठे बैंक सुविधा मिल सकेगी। दिनभर में ये चलित एटीएम किसी शहर के अलग-अलग हिस्सों में घूमेंगे और तय समय तक वहां रुकेंगे। इनके जरिए 15 तरह के लेन-देन भी किए जा सकेंगे।

बायजू एक रणनीतिक विलय के माध्यम से आकाश एजुकेशनल सर्विसेज का अधिग्रहण कर रहा है


भारत के सबसे बड़े ऑनलाइन-शिक्षा स्टार्टअप बायजू ने सोमवार को कहा कि उसने एक रणनीतिक विलय के माध्यम से आकाश एजुकेशनल सर्विसेज लिमिटेड का अधिग्रहण किया है। बायजू रवेन्द्रन ने कहा कि यह आकाश के विकास को गति देने के लिए और निवेश करेगा।

अधिग्रहण के बाद, आकाश एजुकेशनल सर्विसेज संस्थापक जेसी चौधरी और आकाश चौधरी के नेतृत्व में स्वतंत्र रूप से काम करती रहेगी।

BYJU’S के संस्थापक और सीईओ, बायजू रवेन्द्रन ने कहा, “मैं Aakash Educational Services Limited (AESL), एक मार्केट लीडर और टेस्ट प्रीप सेवाओं में सबसे भरोसेमंद नाम, हम पर खुश हूं। हमारी पूरक ताकत हमें क्षमताओं का निर्माण करने, आकर्षक और व्यक्तिगत सीखने के कार्यक्रम बनाने में सक्षम करेगी। सीखने का भविष्य हाइब्रिड है और यह संघ ऑफ़लाइन और ऑनलाइन सीखने का सबसे अच्छा साथ लाएगा, क्योंकि हम छात्रों के लिए प्रभावी अनुभव बनाने के लिए अपनी विशेषज्ञता को जोड़ते हैं। "

ब्लैकस्टोन समूह भी समर्थित आकाश एजुकेशनल सर्विसेज आकाश इंस्टीट्यूट चलाती है, जिसमें देश के छात्र इंजीनियरिंग और मेडिकल स्कूलों में प्रवेश पाने के लिए 200 से अधिक    सेंटर  हैं।

बंगलौर-मुख्यालय वाले बायजू की 2020 में $ 1.25 बिलियन से अधिक की वृद्धि हुई थी और इसका मूल्य ब्लैकरॉक और टी रोवे मूल्य से पिछले नवंबर में लगभग 200 मिलियन डॉलर होने के बाद इसका मूल्य $ 12 बिलियन था। भारत के दूसरे सबसे मूल्यवान स्टार्टअप को फेसबुक के संस्थापक मार्क जुकरबर्ग के चैन जुकरबर्ग इनिशिएटिव, टाइगर ग्लोबल मैनेजमेंट और बॉन्ड कैपिटल द्वारा समर्थित है, जो सिलिकॉन वैली निवेशक मैरी मीकर द्वारा सह-स्थापित है।

नई शिक्षा नीति के तहत नहीं होंगी 10वीं की बोर्ड परीक्षाएं? जानिए सच








केंद्र सरकार ने बीते साल नई शिक्षा नीति को मंजूरी दी है। करीब 34 साल बाद आई शिक्षा नीति में स्कूली शिक्षा से लेकर उच्च शिक्षा तक कई बड़े बदलाव किए गए हैं। नई शिक्षा नीति को लेकर सोशल मीडिया पर अब एक मैसेज वायरल हो रहा है। दावा किया जा रहा है कि नई शिक्षा नीति के तहत सिर्फ 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं होंगी। 10वीं की बोर्ड परीक्षाओं का कोई प्रावधान नहीं होगा।


क्या है वायरल मैसेज में-

मैसेज में लिखा गया है- ‘कैबिनेट ने नई शिक्षा नीति को हरी झंडी दे दी है। 30 साल बाद शिक्षा नीति में बदलाव किया है। नई शिक्षा नीति की उल्लेखनीय बातें सरल तरीके की इस प्रकार हैं:- केवल 12वीं क्लास में होगा बोर्ड, 10वीं बोर्ड खत्म, एमफिल भी होगा बंद। अब सिर्फ 12वीं में बोर्ड परीक्षा देनी होगी। जबकि इससे पहले 10वीं बोर्ड की परीक्षा अनिवार्य होती थी, जो अब नहीं होगी। 10वीं में एग्जाम नहीं होंगे। सरकारी, निजी, डीम्ड सभी संस्थानों के लिए होंगे समान नियम। आदेशानुसार- माननीय शिक्षा मंत्री, भारत सरकार।’


क्या है सच-

एक मैसेज में दावा किया गया है कि नई शिक्षा नीति के अनुसार अब केवल 12वी कक्षा में बोर्ड की परीक्षाएँ होंगी और 10वी कक्षा में बोर्ड परीक्षा का कोई प्रावधान नहीं होगा। #PIBFactCheck: यह दावा #फर्जी है। @EduMinOfIndia ने ऐसा कोई आदेश जारी नहीं किया है। पढ़ें:education.gov.in/sites/upload_f
एक मैसेज पर फ़र्ज़ी की मोहर जिसमे दावा किया गया है की नई शिक्षा नीति के अनुसार अब केवल 12वी कक्षा में बोर्ड की परीक्षाएँ होंगी और 10वी कक्षा में बोर्ड परीक्षा का कोई प्रावधान नहीं होगा।
264
93
Share this Tweet


PIB फैक्ट चेक ने ट्वीट में लिखा है- “एक मैसेज में दावा किया गया है कि नई शिक्षा नीति के अनुसार अब केवल 12वी कक्षा में बोर्ड की परीक्षाएँ होंगी और 10वी कक्षा में बोर्ड परीक्षा का कोई प्रावधान नहीं होगा। यह दावा फर्जी है। केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय ने ऐसा कोई आदेश जारी नहीं किया है।” इसके साथ ही पीआईबी फैक्ट चेक टीम ने नई शिक्षा नीति 2020 की पीडीएफ फाइल भी शेयर की है।

गूगल ने दिया भारत बंद में बेहतरीन साथ - दिया हर बंद रास्ते पर रेड मार्क

 


भारत बंद में किसान सफल रहे। 

पुलिस शांति बनाए रखने में सफल रही। 

हर मुसाफ़िर अपनी जगह पर पहुँचने मे भी सफल रहा। 

गूगल ने दिया हर मुसाफ़िर का साथ, हर दस मिनट में दिया एक नया रास्ता। मैंन टू मैंन मार्किंग कर खुद दिए अनेको नए रास्ते। 

ना कहीं जाम लगे और ना ही कहीं झड़प हुई, क्योंकी जो लोग गूगल मैप इस्तमाल करते है उन्हें गूगल ने जाम रोड्स को खुद ही रूट से हटा दिया। 

जाम वाली जगह बचे तो सिर्फ पुलिस और किसान, साथ ही वो लोग जो गूगल मैप का इस्तमाल नहीं करते। 


पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021: राजनीतिक दलों से नाउम्मीद हो रहे हैं



पिछले कुछ सालों से शैक्षणिक संस्थाएं भी राजनीतिक दलों के निशाने पर ही रहीं हैं - चाहे वो कोई भी दल हो. इस कारण युवा सार्वजनिक रूप से अपने मन की बात करने से भी कतराते हैं.

कोलकाता में पढने वाले छात्रों को लगता है कि राज्य और केंद्र सरकारों ने शिक्षा और उच्च शिक्षा को लेकर अपनी अलग-अलग नीतियाँ बनाई हैं, लेकिन उनका लाभ छात्रों को ज़्यादा नहीं मिल पाता है.

अरिथ्रो, इंजीनियरिंग के छात्र हैं और उन्हें लगता है कि लगातार शोध और उच्च शिक्षा के बजट में कटौती होती चली जा रही है. उन्हें लगता है कि युवाओं और छात्रों के मुद्दे राजनीतिक दलों के एजेंडे से बाहर ही रहते हैं.

दिल्ली कोर्ट में भर्ती के परीक्षा के पेपर जींद के पोल्ट्री फार्म में हो रहे थे हल, जालसाज भागे

हरियाणा के जींद से रविवार को बड़ी खबर आई है। यहां जिले के दो गांवों के बीच सड़क पर पड़ते एक पोल्ट्री फार्म में कुछ लोग दिल्ली की कोर्ट का पेपर सॉल्व कर रहे थे। भनक लगने के बाद पुलिस ने रेड की तो फर्जीवाड़े के आरोपी खेतों के रास्ते भाग खड़े हुए। पुलिस ने संबंधित जगह से कंप्यूटर, वाईफाई और दूसरे उपकरण कब्जे में लेकर जालसाजों की तलाश का क्रम शुरू कर दिया है। साथ ही पता किया जा रहा है कि यह पोल्ट्री फार्म किसका है और यहां किसके लिए पेपर सॉल्व किया जा रहा था।

मामला रविवार सुबह करीब साढ़े 10 बजे का है। दिल्ली की एक जिला अदालत ने चपरासी, प्रोसेसर सहित दूसरे पदों के लिए बीते दिनों आवेदन मांगे थे। रविवार को इसके लिए ऑनलाइन परीक्षा ली गई। इसी बीच दिल्ली पुलिस को पेपर आउट हो जाने की सूचना मिली। कनेक्शन हरियाणा के जींद से जुड़ा और पता चला कि गांव काकड़ौद और नचारखेड़ा के बीच खेत में बने पौल्ट्री फार्म पर बैठकर कुछ लोग इस पेपर को हल कर रहे हैं।

उचाना थाने की पुलिस को साथ लेकर दिल्ली की टीम ने बताए गए स्थान पर छापा मारा तो पुलिस के पहुंचने से पहले ही पेपर हल कर रहे लोग खेतों के रास्ते से फरार हो गए। पुलिस ने मौके से कंप्यूटर, वाई-फाई के अलावा दूसरे उपकरणों को जब्त कर लिया है। इस बारे में उचाना के SHO रविंद्र कुमार का कहना है कि पुलिस अब यह पता लगाने में लगी हुई है कि पौल्ट्री फार्म किसका है और पेपर हल करने के इस मामले में कौन-कौन लोग शामिल थे। जल्द ही पूरी जांच के बाद खुलासा किया जाएगा।